07Dec

व्हीआईएसएम ग्रुप आफ स्ट्डीज में वृक्षारोपण कार्यक्रम सम्पन्न

प्रसिद्ध विश्वप्रेमी मरीना शेख द्वारा स्थापित गैर सरकारी संगठन राइज़िग - वल्र्ड फाउण्डेशन एवं कै. श्रीमन्त राजमाता विजयाराजे सिंधिया की पावन स्मृति में शिक्षा और सामाजिक कल्याण के क्षेत्र में जनजन को लाभान्वित करने की दृष्टि से, ग्वालियर के ख्यातनाम प्रबुद्ध व्यक्ति डाॅ. सुनील सिंह राठौर द्वारा स्थापित व्ही.आई.एस.एम. समूह के सयुक्त तत्वाधान में राइज़िग वल्र्ड फाउण्डेशन की संचार एवं अनुदान संचालक नन्दिनी सिंह के नेतृत्व में, वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन व्हीआईएसएम कैम्पस में दिनांक 07 दिसम्बर 2020 सोमवार दोपहर एक बजे किया गया।

01Dec

व्हीआईएसएम हाॅस्पीटल मंे मनाया गया ‘‘विश्व एड्स दिवस’’

व्हीआईएसएम ग्रुप आॅफ स्ट्डीज के अन्तर्गत संचालित व्हीआईएसएम हाॅस्पीटल में विश्व एड्स दिवस मनाया गया। इस अवसर पर हाॅस्पीटल के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ. एच.एस. डण्डौतिया ने एड्स रोग के बचाव के तरीको को बताते हुए इसके प्रति जागरूक रहने का संदेश दिया। उन्होने कहा कि आज के चिकित्सा विज्ञान ने लगभग सभी बिमारियों पर नियंत्रण कर लिया है, एवं आज हम एड्स जैसी बिमारी को भी अपने से दूर रख पा रहें है। इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन डाॅ. सुनील राठौर ने अपने उद्भोधन मंे विश्व एड्स दिवस मनाये जाने के कारणो का जिक्र करते हुए कहा कि उक्त दिवस मनाने से हम सभी उस बिमारी से बचाव के तरीको को पुनः ध्यान मंे ला पाते है। उन्होने कहा कि हमारा व्हीआईएसएम हाॅस्पीटल अपने आस-पास के गाॅवो में विभिन्न बीमारियों के बचावो के उपाय जनमानस के जानकारी में लाने के लिये जागरूकता अभियान चलाने पर विचार कर रहा है। मुझे उम्मीद है कि हाॅस्पीटल के समस्त कर्मचारीगण पूर्ण समर्पण से कार्य करते हुए व्हीआईएसएम हाॅस्पीटल को एक प्रतिमान के रूप में स्थापित करेंगे। इस अवसर पर संस्थान की चेयरपर्सन श्रीमती सरोज राठौर, ग्रुप निदेशक डाॅ. प्रज्ञा सिंह, हाॅस्पीटल के डायरेक्टर सहित हाॅस्पीटल के समस्त कर्मचारीगण उपस्थित रहें।

07Nov

व्हीआईएसएम हाॅस्पिटल में मनाया गया ‘‘कैंसर जागरूकता दिवस’’

व्हीआईएसएम ग्रुप आॅफ स्ट्डीज़ के अन्तर्गत संचालित व्हीआईएसएम हाॅस्पिटल में आज ‘‘कैंसर जागरूकता दिवस’’ मनाया गया। समारोह में मुख्य अतिथि प्रसिद्ध कैंसर रोग विशेषज्ञ डाॅ. प्रिया रूनवाल मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहीं। डाॅ. रूनवाल ने अपने उद्बोधन में कहा कि कैंसर मानवता के लिये एक अभिषाप की तरह है, पर यदि हम इसके प्रति जागरूकता अभियान चलायें, इससे डरने के स्थान पर उपलब्ध चिकित्सा का समय रहते उपयोग करें तो इससे निदान पाया जा सकता है। आज जरूरत इस बात कि है कि ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाकर इस बीमारी से बचाव एवं चिकित्सा के उपाय जनसामान्य की जानकारी मंे लाए जाये तभी इस बीमारी को समाप्त किया जा सकता है। इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन डाॅ. सुनील राठौर ने कहा कि कैंसर महामारी आज लाईलाज नहीं रही है इसके प्रति सतत् जागरूकता एवं चिकित्सा ने इस बीमारी पर काफी हद तक  विजय प्राप्त कर ली है। अभी भी इस बात की आवश्यकता है कि हम विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों मंे सघन अभियान चलाकर लोगो को इस बीमारी के प्रति बचाव के उपायो से अवगत करावे। हमारे व्हीआईएसएम हाॅस्पिटल ने न केवल पीड़ित की सेवा-चिकित्सा का संकल्प लिया है बल्कि कैंसर बीमारी के विरूद्ध अभियान चलाकर आसपास के क्षेत्रों के रहवासियों को जागरूक करने का भी प्रयास किया है। हमारा प्रयास है कि व्हीआईएसएम हाॅस्पिटल समस्त बीमारियों के त्वरित निदान के लिये एक मिसाल कायम करें। मैं उपस्थित हाॅस्पिटल के समस्त कर्मचारियों से आशा करूगा कि वे हमारे इस प्रयास को साकार करने में पूरी तरह जूट जाये। इस अवसर पर संस्थान की चेयरपर्सन श्रीमती सरोज राठौर, ग्रुप निदेशक डाॅ. प्रज्ञा सिंह, डाॅ. एच.एस. डण्डौतिया एवं व्हीआईएसएम हाॅस्पिटल के निदेशक मनोज कुमार सिंह सहित समस्त कर्मचारी उपस्थित रहें। 

30Oct

व्हीआईएसएम काॅलेज में हुआ फार्मेसी का ‘‘ओरियेन्टेशन प्रोग्राम’’

व्हीआईएसएम ग्रुप आॅफ स्ट्ड़ीज के अन्तर्गत संचालित जय इंस्टीटयूट आॅफ फार्मास्यूटिकल सांइसेंस एण्ड रिसर्च में आज दिनांक 29/10/2020 को नवीन सत्र 2020-21 के छात्र-छात्राओं का ‘‘ओरियेन्टेशन प्रोग्राम’’ महाविद्यालय के सभागार में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्वल्लित कर की गई। इसके उपरान्त महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. मनोज कुमार गोयल ने व्हीआईएसएम ग्रुप में संचालित फार्मेसी महाविद्यालय के बारे में छात्र-छात्राओं को जानकारी दी। इसके पश्चात् संस्थान के चैयरमेन डाॅ. सुनील राठौर ने उपस्थित छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए बताया कि वे अब नये परिवेश में शिक्षा ग्रहण करने जा रहें है अतः उन्हे अपना सम्पूर्ण ध्यान अध्ययन पर ही लगाना चाहिए। वदलते समय में फार्मेसी क्षेत्र रोजगार एवं स्वये के व्यवसाय की अपार सभावनाऐं लेकर आया है अतः छात्र-छात्राओं को ध्यान रखना चाहिऐं कि महाविद्यालयीन शिक्षा के दौरान की गई मेहनत सम्पूर्ण जीवन में सुख समृद्धि ला सकती है साथ ही महाविद्यालय व अपने माता पिता का नाम रोशन कर सकती है। दुनिया के समस्त काम इंसान द्वारा ही किये जाते है, परिस्थिति कैसी भी हो मेहनत एवं संकल्प हमे अपने उद्देश्य तक पहुचा ही देती है। उन्होने यह भी बताया इस महाविद्यालय में अत्यन्त कुशल एवं अनुभवी शिक्षक आपका मार्गदर्शन करेंगे एवं आपका यह दायित्व है कि उनके द्वारा पढाये जा रहें विषय पर अपने आप को अपडेट रखें। अंत में उन्होने छात्र-छात्राओं को नये शिक्षण सत्र के लिये शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर महाविद्यालय परिसर में पौधारोपण किया गया जिसमें संस्थान के स्टाॅफ ने अशोक एवं अन्या पौधे रोपित किये। चेयरपर्सन श्रीमती सरोज राठौर, ग्रुप निदेशक डाॅ. प्रज्ञा सिंह, सहित समस्त स्टाॅफ व छात्र-छात्राऐं इस अवसर पर मौजूद रहें। 

17Oct

व्हीआईएसएम ग्रुप में शुरू हुआ नवरात्री महोत्सव

आज सारे विश्व के साथ-साथ व्हीआईएसएम महाविद्यालय में भी शारदेय नवरात्री का महोत्सव प्रारंभ हुआ। महाविद्यालय के सभागार में माॅ देवी की पार्थ प्रतिमा विधि विधान के साथ स्थापित की गई एवं आकर्षक सजावट की गई। महाविद्यालय में यह महोत्सव नौ दिन तक धूमधाम से मनाया जायेगा। दोनो समय माॅ की प्रतिमा की पूजा एवं आरती कर प्रसाद वितरण किया जावेगा। प्रतिमा की स्थापना संस्थान के चेयरमैन डाॅ. सुनील राठौर, चेयरपर्सन श्रीमती सरोज राठौर, निदेशक डाॅ. प्रज्ञा सिंह ने की । इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन डाॅ. राठौर ने संदेश दिया कि हम सभी माॅ दुर्गा का उत्सव धूमधाम से मनायें लेकिन इस महामारी के समय में जारी किये जा रहें वचाव के निर्देशो का सख्ती से पालन किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होने इस अवसर पर महाविद्यालय परिवार के सदस्यों को शुभकामनाएं दी। 

12Oct

व्हीआईएसएम काॅलेज में मनाया गया कै. राजमाता जी का शताब्दी जंयती वर्ष

व्हीआईएसएम ग्रुप आॅफ स्ट्डीज़ में आज कैलाशवासी राजमाता विजयाराजे सिंधिया जी की जन्मशताब्दी  के अवसर पर संस्थान ने उन्हे श्रद्धा पूर्वक स्मरण किया। राजमाता जी के चित्र पर संस्था के चेयरमैन डाॅ. सुनील राठौर ने माल्यार्पण कर उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। उन्होने कहा कि राजमाता हम सभी के लिये इसलिये पूज्यनीय नहीं कि वे राजघराने से थी बल्कि वे इसलिए सभी की आदर की पात्र है कि उन्होने राजशाही जाते ही एक सामान्य जनसेवक की तरह न केबल व्यवहार किया बल्कि उसे पूरी तरह अमल में भी लाया। उन्होने सदैव आम आदमी की परेशानी को समझा एवं उसे सदैव दूर करने का प्रयास किया। शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान एक मील का पत्थर है। विशेषकर ग्वालियर चंबल संभाग में शिक्षा का अलख जगाने में राजमाता जी का अतुलनीय योगदान रहा है। उन्होने राजनीति को जनसेवा का माध्यम बनाया और अपना सम्पूर्ण जीवन उसी उद्देश्य के लिये समर्पित कर दिया। उनकी इसी विशिष्टता के कारण आज देश के प्रंधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उनकी स्मृति को चिरस्थायी बनाने के लिये 100 रूपये का सिक्का जारी किया गया। यह हमारा सौभाग्य है कि हमारे संस्थान का नाम इस महान विभूति पर है। इस अवसर पर संस्थान की चेयरपर्सन श्रीमती सरोज राठौर, ग्रुप निदेशक डाॅ. प्रज्ञा सिंह के साथ साथ समस्त स्टाॅफ सदस्य उपस्थित रहें।